उत्तराखंड में बिजली दरों में 04 प्रतिशत की कमी, जानें नई दरें

उत्तराखंड

उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग ने वर्ष 2020-21 के लिए नई बिजली दरों की घोषणा कर दी है। सभी श्रेणियों में औसत चार प्रतिशत की कमी गई है। घरेलू उपभोक्ताओं को 18 पैसे, व्यवसायिक को 35 पैसे, एलटी और एचटी उद्योगों को 23 प्रति पैसे यूनिट बिजली सस्ती मिलेगी। बीपीएल उपभोक्ताओं को भी बड़ी राहत दी गई है। नई दरें एक अप्रैल 2020 से लागू मानी जाएंगी।

आयोग के कार्यकारी अध्यक्ष डीपी गैरोला, सदस्य एमके जैन, सचिव नीरज सती ने शनिवार को नई दरें जारी की। नई दरों के अनुसार घरेलू श्रेणी के उपभोक्ताओं की औसत बिलिंग दर पहले 4.62  रुपये प्रति यूनिट थी। जो अब 4.44 रुपये प्रति यूनिट हो गई है। व्यवसायिक दर 6.73 रुपये से 6.38 रुपये, एलटी औद्योगिक उपभोक्ता की दर 6.26 रुपये से 6.03 रुपये, एचटी उपभोक्ता की दर 6.29 रुपये से 6.06 रुपये प्रति यूनिट हो गई है। घरेलू श्रेणी में 3.90 प्रतिशत, व्यवसायिक में 5.20 प्रतिशत, एलटी में 3.67 प्रतिशत और एचटी श्रेणी में 3.67 प्रतिशत की कमी की गई है। 

बीपीएल उपभोक्ताओं को राहत देते हुए दरें 1.83 रुपये प्रति यूनिट से कम कर 1.61 रुपये प्रति यूनिट कर दिया गया है। इस श्रेणी में रिकॉर्ड 12.02 प्रतिशत की कमी गई है। आयोग ने गौशाला, गोसदन, लघु डेयरी को बढ़ावा देने को भी बिजली दरों में राहत दी है। पहली बार इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन के लिए 5.50 रुपये प्रति यूनिट का रेट तय किया गया है। 

राज्य में कुल बिजली उपभोक्ता — 2367855
घरेलू उपभोक्ता — 20.70 लाख
व्यवसायिक उपभोक्ता — 2.24 लाख
औद्योगिक उपभोक्ता — 13354
किसान व अन्य — 60000

आम घरेलू उपभोक्ताओं को ऐसे मिली राहत 
यूनिट         पहले        अब

0-100       3.69        3.40
101-200   3.97        3.75
201-300   4.61        4.45
301-400   4.78        4.63
401-500   5.20        5.07 
रेट रुपये प्रति यूनिट है।

200 यूनिट पर 44 रुपये की राहत
यदि एक परिवार एक महीने में 200 यूनिट बिजली खर्च करता है। तो उसे एक महीने में 44 रुपये प्रति बिल राहत मिलेगी। 100 यूनिट तक खर्च करने पर प्रति बिल 29 रुपये और 300 यूनिट बिजली खर्च करने पर प्रति बिल 48 रुपये की राहत मिलेगी।

राज्य की नई बिजली दरों को जारी कर दिया गया है। नई दरों में हर श्रेणी के बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी गई है। बीपीएल, घरेलू, व्यवसायिक समेत उद्योगों की मौजूदा दरों में भी कमी गई है। यूपीसीएल के साथ ही यूजेवीएनएल और पिटकुल का टैरिफ भी जारी कर दिया गया है।
नीरज सती, सचिव उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *