लॉकडाउन: उत्तराखंड में पर्यटन कारोबार पर पड़ा बुरा असर, होटलों की 60 फीसदी तक बुकिंग कैंसिल

उत्तराखंड व्यापार

कोरोना वायरस का असर अब सामने आ रहा है। उत्तराखंड में लॉकडाउन से पर्यटन कारोबार पूरी तरह ठप हो गया है। निकट भविष्य में भी पर्यटन सीजन समान्य होता नजर नहीं आ रही है। इससे पर्यटन को अरबों का नुकसान पहुंचेगा। लाखों लोगों का रोजगार प्रभावित होगा। कारोबारियों को सबसे बड़ी चिंता बैंकों के कर्ज की किश्तों की है। पेश है हिन्दुस्तान की रिपोर्ट

नैनीताल में 80 करोड़ का नुकसान
नैनीताल। नैनीताल को अभी तक 80 करोड़ का नुकसान हो चुका है। दस हजार मजदूर और 30हजार लोग बेरोजगार हो चुके हैं। नैनीताल, भवाली, भीमताल के पर्यटन से जुड़े लोगों पर असर पड़ा है। जून की एडवांस बुकिंग नहीं हुई। जो पहले आई थी, वो कैंसिल हो रही है। होटल कारोबारी कमल जगाती ने कहा कि लोन की किश्त निकालना मुश्किल हो गया है। रामनगर रिजॉर्ट एसो. अध्यक्ष हरिमान सिंह ने बताया कि जून,अगस्त की बुकिंग रद हो गई हैं। टूरऑपरेटर एजी अंसारी ने बताया कि जून की बुकिंग नहीं है। 

रुद्रप्रयाग में तीन अरब के नुकसान की आशंका
रुद्रप्रयाग। केदारनाथ यात्रा में 40 दिनों में ही करीब 3 अरब का कारोबार होता था। इस बार ये संभव नहीं लग रहा। हेली कंपनियों ने पिछले साल 67 करोड़ का कारोबार किया। इस बार उम्मीद 100 करोड़ के पार जाने की थी। इस बार स्थिति बहुत ही खराब नजर आ रही है। केदारनाथ में ही जीएमवीएन की 500 से ज्यादा बुकिंग कैंसिल हो चुकी हैं। पूरे जिले में ये आंकड़ा 800 के करीब है। होटल, लॉज और रेस्टोरेंट को करीब डेढ़ सौ करोड़ के नुकसान का अंदाजा है। घोड़ा, खच्चर, डंडी कंडी समेत तमाम दूसरे छोटे कारोबारी सबसे अधिक परेशान हैं।

चमोली में 30 प्रतिशत बुकिंग कैंसिल
बदरीनाथ, श्री हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी, औली  में पर्यटन और यात्रा सीजन के लिए कराई गई एडवांस बुंकिग में मई महीने की 30 प्रतिशत कैंसिल हो गई हैं। जून की 20 प्रतिशत एडवांस ऑनलाइन बुकिंग कैंसिल हुई हैं। इसका सीधा असर बदरीनाथ धाम और यात्रा पथ पर मौजूद करीब 700 होटल, धर्मशालाओं पर पड़ा है। करीब 60 लाख का नुकसान हो चुका है।बदरीनाथ होटल लॉज एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश मेहता ने बताया कि लोगों को उम्मीद है कि यात्रा जरूर चलेगी। 

मसूरी में 50  प्रतिशत बुकिंग कैंसिल
मसूरी में पर्यटन सीजन को लेकर की गई औसतन करीब 50 प्रतिशत एडवांस बुकिंग कैंसिल हो चुकी हैं। अप्रैल महीने की 70 प्रतिशत, मई  और  जून महीने की 50 प्रतिशत बुकिंग कैंसिल हुई हैं। कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बाद से तो एक भी नई बुकिंग नहीं हुई है। उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी ने बताया कि मसूरी में लगभग 250 पंजीकृत होटल हैं। कोरोना के कारण शत प्रतिशत होटल कारोबार ठप हो गया है। कर्मचारियों का वेतन देने की भी स्थिति नहीं रह गई है। कर्मचारियों का 50 फीसदी वेतन का भुगतान राज्य सरकार व 50 फीसदी वेतन ईएसआई में जमा राशी से किया जाए। महासचिव संजय अग्रवाल ने बताया कि जिन लोगों ने होटल लीज पर लिए थे, बिना भुगतान किए चले गए।  इससे होटल मालिकों को नुकसान हुआ है। मसूरी में ही 100 करोड़ का नुकसान हुआ है।

लैंसडौन में 60 करोड़ का नुकसान
लैंसडौन। पर्यटन से जुड़े लोगों को लैंसडोन में करीब 60 करोड़ का नुकसान होने जा रहा है। नई कोई बुकिंग नहीं हो रही है। पुरानी बुकिंग कैंसिल हो रही हैं। कर्मचारियों की नौकरी पर खतरा बढ़ गया है। लोन लेने वालों और लीज पर होटल लेने वाले परेशान हैं। होटल कारोबारी कुलदीप सिंह बिष्ट ने बताया कि मई, जून से थोड़ी उम्मीद थी, जो अब टूटती नजर आ रही है।


हरिद्वार में 62 फीसदी बुकिंग हुई रद
पर्यटन सीजन में हरिद्वार में मई व जून की औसत 62 प्रतिशत बुकिंग कैंसिल हो गई हैं। मई महीने की 85 फीसदी एडवांस बुकिंग रद हुई है। जून महीने में 40 फीसदी बुकिंग रद हुई है। जून महीने की 45 फीसदी बुकिंग होल्ड पर डाल दी गई है। बुकिंग कैंसिल भी हो रही हैं। 70 होटलों को लीज पर लेकर कारोबार करने वालों का लाखों रुपये फंस गया है। पांच हजार लोगों पर बेरोजगारी का संकट खड़ा हो गया है।


ऋषिकेश में 60 फीसदी बुकिंग कैंसिल 
ऋषिकेश। पर्यटन सीजन में पैक रहने वाले ऋषिकेश में बड़ा संकट नजर आ रहा है। यहां मई महीने में होटलों की करीब 70 फीसदी एडवांस बुकिंग रद हो गई हैं। जून महीने की 50 फीसदी बुकिंग रद हुई हैं।  टूर एंड ट्रेवल कारोबार से जुड़े करीब 20 हजार बेरोजगार हो गए हैं। 


टिहरी में डेढ़ हजार का रोजगार प्रभावित
नई टिहरी। कोरोना से पर्यटन कारोबार से जुड़े डेढ़ हजार लोगों का रोजगार प्रभावित हुआ है। कोटी झील में पर्यटकों की आवाजाही बंद हो गई है। इससे बोटिंग व्यवसाय से जुड़े 150 लोगों का रोजगार ठप हो गया है। धनोल्टी क्षेत्र में भी बुकिंग कैंसिल होने से एक हजार से अधिक युवाओं का रोजगार खत्म हो गया है। होटल एसोसियेशन के अध्यक्ष लक्ष्मी प्रसाद भट्ट ने बताया कि बैंकों का लोक चुकाने में दिक्कत आएगी। 

उत्तरकाशी में 80 प्रतिशत एडवांस बुकिंग रद     
उत्तरकाशी।  उत्तरकाशी में होटलों की 80 फीसदी बुकिंग कैंसिल हो गई हैं। होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेन्द्र मटूड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री को मौजूदा हालात से अवगत करा दिया है। असर होटल कारोबारियों के साथ घोड़े, खच्चर चलाने वालों के साथ ही गाइड, टूर ट्रेवल ऑपरेटरों पर भी पड़ा है। 

बागेश्वर में 90 प्रतिशत बुकिंग कैंसिल
बागेश्वर। कौसानी समेत आस पास के दूसरे पर्यटन स्थलों की 90 प्रतिशत बुकिंग कैंसिल हो गई है। होटल एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष बबलू नेगी ने बताया कि ज्यादातर होटलों ने लोन लेकर सीजन की तैयारी मार्च में ही कर दी थी। अब अकेले कौसानी का ही करीब छह करोड़ का कारोबार ठप हो गया है। 400 लोगों की रोजी-रोटी पर  संकट आ गया है। पिंडारी की साहसिक यात्रा भी मुश्किल नजर आ रही है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *