सितारगंज में तीन सीट प्लांटों में 8700 कुंतल टैक्स चोरी का गेहूं पकड़ा

उत्तराखंड व्यापार

सितारगंज के तीन सीड प्लांटों में 8700 कुंतल सामान्य गेहूं पकड़ा गया है। यह गेहूं सीड प्लांट में टैक्स चोरी कर व्यापार करने के लिए खरीदा गया था। मण्डी समिति ने स्टॉक में हेरा फेरी नहीं हो इसके लिए स्टॉक रजिस्टर सील कर दिये हैं। सीड प्लांटों के खिलाफ बीज प्रमाणीकरण विभाग की कार्रवाई के साथ मण्डी समिति जुर्माने की कार्रवाई करेगा। सीड प्लांट स्वामियों को मण्डी शुल्क भी जमा करना होगा।सितारगंज में करीब 18 व्यापारियों ने सीड प्लांट का लाइसेंस लिया है। बीज प्रमाणीकरण के अध्यक्ष राजवीर सिंह को शिकायत मिली थी कि सीड प्लांट कारोबारी किसानों का गेहूं खरीदकर व्यापार कर रहे हैं। इस पर उन्होंने जांच कमेटी गठित की। जांच में आठ में से तीन सीड प्लाटों में भारी अनियमिततायें मिली। स्टाक रजिस्टर की जांच में सीड प्लांट में 7000 कुंतल, 900 और 800 कुंतल गेहूं का अवैध भण्डारण मिला। प्लांट परिसर में सीड के अलावा दूसरी उपज की खरीद बिक्री नहीं की जा सकती है। किसान के खेत में तैयार सीड को प्लांट में लाकर इसकी बिक्री कर सकते हैं। इन सीड का पहले ही रजिस्ट्रेशन हो जाता है। आरोप है कि प्लांट स्वामी सीड की आड़ में किसान के गेहूं की खरीद करना व स्टॉक कर ऊंचे दामों में बेचने का कारोबार भी कर रहे हैं। बताया जाता है कि सीड की आड़ में गेहूं खरीद बिक्री में मण्डी शुल्क समेत सरकार को दिये जाने वाले टैक्स की चोरी की जाती है। बीज प्रमाणीकरण के अध्यक्ष राजवीर सिंह ने कहा कि विभागीय कार्रवाई की जायेगी। सितारगंज बीज प्रमाणीकरण विभाग के प्रभारी बीएम शर्मा ने बताया कि अध्यक्ष के आदेश पर जांच चल रही है। अभी आठ प्लांटों की जांच हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *