एंबुलेंस का रास्ता हाथी ने रोका, एंबुलेंस में हुआ प्रसव

उत्तराखंड

रामनगर में गुरुवार को प्रसव पीड़िता महिला को लेकर सरकारी अस्पताल आ रही एंबुलेंस का एक हाथी ने रास्ता रोक लिया। इससे प्रसव पीड़िता की हालत बिगड़ गई।

स्थिति को देखकर एंबुलेंस के ईएमटी को वाहन में ही प्रसव कराना पड़ गया। हालांकि हाथी आधे घंटे के बाद जंगल की ओर चला गया। इसके बाद जच्चा-बच्चा को एंबुलेंस से सकुशल लाकर अस्पताल में भर्ती कराया गया।

बोहरा कोट अमगड़ी निवासी गीतांजलि पत्नी हेमचंद को गुरुवार सुबह प्रसव पीड़ा हुई। दोपहर 12 बजे एंबुलेंस से जाते समय सीतावनी के पास एक हाथी आगे खड़ा हो गया।

इसके बाद एंबुलेंस के ईएमटी शुभम कुमार, मदन सत्यवली ने वाहन को करीब 200 मीटर दूर खड़ा दिया। हेमचंद ने बताया कि प्रसव पीड़ा बढ़ने पर दोनों ईएमटी ने वाहन में गीतांजलि का प्रसव कराया।

इसके बाद पत्नी को सकुशल सरकारी अस्पताल लेकर आए। सीएमएस डॉ.बीडी जोशी ने बताया कि महिला की हालत बेहतर है। महिला ने बच्ची को जन्म दिया है। 
 

आशा की भी मदद ली
एंबुलेंस में अमगड़ी की एक आशा भी बैठी थी। बताया कि महिला के प्रसव के दौरान आशा भी आगे आई। स्थिति को देखते हुए उसने ही वाहन में प्रसव कराने की सलाह दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *