दो साल के बच्चे समेत कोरोना के 45 नए मरीज मिलने से 3417 हुए संक्रमित, 2718 ठीक होकर हुए डिस्चार्ज

उत्तराखंड

राज्य में शनिवार को कोरोना के 45 नए मरीज मिले। इसमें से 21 मरीज अकेले देहरादून जिले के हैं। इसके साथ ही कुल मरीजों की संख्या 3417 हो गई है। 22 मरीज इलाज के बाद ठीक भी हुए। अभी तक ठीक होकर अस्पतालों से डिस्चार्ज होने वाले मरीजों की संख्या 2718 पहुंच गई है। 

स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार देहरादून में 21, यूएस नगर में 14, अल्मोड़ा में तीन, चमोली में एक, हरिद्वार में तीन, रुद्रप्रयाग में एक, टिहरी में दो नए मरीज मिले हैं। मंगलवार को कुल 2441 सैंपल की रिपोर्ट आई जिसमें से 2396 मरीज नेगेटिव पाए गए हैं।

जबकि विभिन्न जिलों से 2009 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। सबसे अधिक 467 सैंपल यूएस नगर से, 388 हरिद्वार, 333 देहरादून, 172 पौड़ी गढ़वाल जबकि 105 सैंपल चम्पावत से भेजे गए हैं। राज्य से अभी तक कुल 92198 सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं।

जिसमें से 80882 सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं। 3417 कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि 5291 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है। राज्य में कोरोना मरीजों के दो गुना होने की दर 50 दिन से अधिक चल रही है।

मरीजों के ठीक होने की दर 81 प्रतिशत से घटकर 79.54 प्रतिशत हो गई है। जबकि कोरोना संक्रमण दर में भी काफी गिरावट आई है और वह अब तकरीबन चार प्रतिशत रह गई है। शनिवार को अल्मोड़ा जिले में कोरोना मरीजों का आंकड़ा दो सौ के पार पहुंच गया है।

जिले में अभी तक कुल 201 मरीज हो गए हैं। जबकि बागेश्वर जिले में कोरोना का एक भी एक्टिव कोरोना मरीज नहीं है। राज्यभर में कुल 82 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। 

सेना के जवान और दो साल के बच्चे समेत 21 को कोरोना
देहरादून। देहरादून जिले में शनिवार को 21 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, जिनमें एक सेना का जवान, ऋषिकेश के टिहरी विस्थापित क्षेत्र का एक दो साल का बच्चा और दो स्वास्थ्य कर्मी भी शामिल हैं। सभी मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराया जा रहा है। 

सीएमओ डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि सेना का जवान हाल ही में बाहर लौटा था। उन्हें क्वारंटाइन कर सैंपल लिया गया था, जिनकी जांच रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। ऋषिकेश में टिहरी विस्थापित क्षेत्र के दो साल के बच्चे को नौ जुलाई को बुखार की शिकायत पर एम्स की ओपीडी में लाया गया था, जहां बच्चे का सैंपल लिया गया था, जांच में पॉजीटिव पाया गया।

इससे पहले उसके दादा और परदादा भी कोरोना संक्रमित मिले हैं। वहीं, दिल्ली, मुंबई, गुरुग्राम आदि जगह से लौटे छह लोगों में कोरोना संक्रमण पाया गया, जो एक ही क्वारंटाइन सेंटर ठहरे थे। वाइल्ड लाइफ इंस्टीट्यूट के छह कर्मचारी और एयरपोर्ट पर लिए गए छह सैंपलों की रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है।

वहीं, एक अस्पताल के दो स्वास्थ्य कर्मचारियों में भी कोरोना संक्रमण मिला है। एसीएमओ डॉ. यूएस चौहान और चिकित्साधिकारी डॉ. रचित गर्ग की टीम ने मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया है। सीएमओ डॉ. बीसी रमोला का कहना है कि इस वक्त जनता को बेहद ऐतिहात बरतने की जरूरत है।

उन्हें मास्क, सेनेटाइजर और सोशल डिस्टेंस का पालन का हर हाल में करना होगा, तभी हम कोरोना से जंग जीत पाएंगे। बताया कि जिले में अब तक 836 मामले आ चुके हैं, जिनमें 151 का अस्पतालों में उपचार चल रहा है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *