पड़ोसी राज्यों से आने वाले कांवड़ियों को रोकने के लिए बॉर्डर सुपर जोन में बांटे

उत्तराखंड भक्ति

कांवड़ियों को लेकर बॉर्डर पर पुलिस की सतर्कता और सख्ती और बढ़ा दी गई है। बॉर्डर क्षेत्र को चार सुपर जोन और दस जोन में बांटा गया है।

सभी बॉर्डर पर इंस्पेक्टरों को जिम्मेदारी दी गई है। डाक कांवड़ आने का समय जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है उसे देखते हुए पुलिस सतर्कता बढ़ाई है। 

इस साल कोरोना संकट के कारण कांवड़ यात्रा को स्थगित कर दिया गया है। छह जुलाई से बॉर्डर को सील कर दिया गया था। कांवड़ यात्रा में शुरुआती समय में पैदल कांवड़िए आते थे।

उसके बाद डाक कांवड़ आने का सिलसिला शुरू होता है। हर साल डाक कांवड़ियों को संभालने में ही पुलिस को सबसे अधिक परेशानी झेलनी पड़ती थी। 

इस बार उन्नीस जुलाई को जलाभिषेक है। उससे पहले डाक कांवड़ वाहनों के आने की संभावना पर पुलिस सतर्क हो गई है। बाहर के जिलों से पुलिस फोर्स आया है।

आठ इंस्पेक्टर, बाहर उपनिरीक्षक, चौतीस कांस्टेबल दूसरे जिलों से आए हैं। इन सबकी तैनाती बॉर्डर पर कर दी गई है। इसके अलावा स्थानीय पुलिस, पीएससी, आईआरबी की तैनाती भी की गई है।

पुलिस किसी तरह से डाक कांवड़ वाहनों की एंट्री उत्तराखंड की सीमा में नहीं होने देना चाहती है। बॉर्डर क्षेत्र को चार सुपर जोन और दस जोन में बांटा गया है।

सुपर जोन प्रभारी सीओ होंगे, जबकि संबंधित क्षेत्र के कोतवाल और थानाध्यक्ष जोन प्रभारी होंगे। अधिकारी लगातार स्थिति पर नजर रख रहे हैं। बाहरी जिलों से आए इंस्पेक्टरों की तैनाती कर दी गई है।

इन बॉर्डर पोस्टों पर हुई इंस्पेक्टरों की तैनाती
सुरेंद्र भंडारी को काली नदी,  मदन बिष्ट को मंडावर, भगवंत बिष्ट को नारसन, त्रिवेंद्र राणा बीरपुर बॉर्डर, राजेंद्र रावत एआरटीओ चेकपोस्ट मंगलौर, प्रदीप पंत तेज्जुपुर बॉर्डर, मारुत साह लखनौता, प्रीतम सिंह को पुरकाजी बॉर्डर पर तैनाती दी गई है।
 

पुलिस लगातार रख रही नजर
बॉर्डर पर पुलिस लगातार सतर्क है। बाहरी राज्यों सेे बिना वजह आने वालों को रोका जा रहा है। अस्थि विसर्जन और आवश्यक सेवा के वाहनों को एंट्री दी जा रही है। पुलिस हर वाहन की जांच कर रही है। उन्नीस जुलाई तक पुलिस पूरी तरह सतर्क रहेगी।


कांवड़ ड्यूटी के लिए बाहरी राज्यों से आए पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है। चार सुपर जोन और दस जोन बनाए गए हैं। बॉर्डर पर पुलिस पूरी तरह सतर्क है।
एसके सिंह, एसपी देहात 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *