लगातार हो रही बारिश ने मचाई तबाही, पांच मकान व तीन पुल जमींदोज

उत्तरप्रदेश

मुनस्यारी में लगातार हो रही बारिश ने जमकर तबाही मचाई। छोरीबगड़ गांव में पांच मकान और एक गोशाला गोरी नदी में बह गए, जबकि कई मकानों पर आपदा का खतरा मंडरा गया है। धापा गांव में एक मकान ढहने से बच्चे को गंभीर चोट आई है। जिसका अस्पताल में उपचार चल रहा है। तीन मवेशी भी गोरी नदी में बह गए।

मूसलाधार बारिश से जौलजीबी-मुनस्यारी सड़क पर सैनथल पुल, मुनस्यारी-मिलम सड़क पर जिमी घाट बेली ब्रिज व चिलम धार का पैदल पुल भी बह गएा। जिससे मुनस्यारी सहित चीन सीमा पर स्थित सेना की चौकियों व 9 गांवों का शेष दुनिया से सड़क संपर्क पूरी तरह कट गया है। मुनस्यारी के छोरीबगड़ व धापा गांव के लोगों के लिए शनिवार रात हुई बारिश आफत बनकर आई। छोरीबगड़ में भारी बारिश से गोरी नदी उफान पर आ गई। नदी का प्रवाह इतना तेज था कि वह अपने साथ दलीप सिंह, चंचल सिंह, प्रताप सिंह, मथुरा देवी, देवेंद्र सिंह, डिगर सिंह के मकानों व तुलसी देवी की गोशाला को बहा ले गई। देखते ही देखते मकान व उनमें रखा सामान नदी की भेंट चढ़ गया।

मकान ढहने से बच्चा घायल 
धापा गांव में एक मकान ढहने से बच्चे को गंभीर चोट आई है। जिसका अस्पताल में उपचार चल रहा है। धापा में पहाड़ी से लगातार बोल्डर गिरने का सिलसिला जारी है, जिससे ग्रामीण दहशत में हैं। इसके अलावा जौलजीबी-मुनस्यारी सड़क पर सैनथल पुल, मुनस्यारी-मिलम सड़क पर जिमी घाट वैली ब्रिज व चिलम धार का पैदल पुल बह गया। 

पुल बहने से चीन सीमा से लगी चौकियों से संपर्क कटा
पुलों के बहने से मुनस्यारी सहित चीन सीमा पर स्थित सेना की चौकियों व उच्च हिमायली क्षेत्रों में बसे 9 गांव अलग-थलग पड़ गए हैं। हालांकि सूचना के बाद राहत एवं बचाव दल, प्रशासन व बीआरओ की टीम मौके पर पहुंचकर राहत पहुंचाने में जुटी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *