राम मंदिर के लिए बदरीनाथ धाम की मिट्टी और पंच प्रयागों का जल अयोध्या भेजा जाएगा

उत्तराखंड देश भक्ति

अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर के निर्माण के लिए भू वैकुंठ बदरीनाथ धाम की मिट्टी और पंच प्रयागों का जल अयोध्या भेजा जाएगा। रविवार को गोपेश्वर में हुई विश्व हिंदू परिषद की बैठक में यह निर्णय लिया गया। विश्व हिन्दू परिषद ने अपने प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर यह निर्णय लिया है। इसके लिये विश्व हिन्दू परिषद ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं।

27 जुलाई को बदरीनाथ धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल और संतों के नेतृत्व में बदरीनाथ की मिट्टी और पंच प्रयागों का जल कलश में एकत्रित किया जाएगा। मिट्टी व जल कलश 29 जुलाई को हरिद्वार पहुंचाया जाएगा। विहिप के विभागाध्यक्ष देवी प्रसाद देवली, विभाग मंत्री पवन राठौर और जिलाध्यक्ष राकेश मैठाणी ने बताया कि अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में चमोली के कार्यकर्ता भी शामिल होंगे। उन्होंने आम लोगों से पांच अगस्त को घर-घर में दीप जलाने का आह्वान किया। इस मौके पर जिला मीडिया प्रभारी हरीश तिवारी भी मौजूद थे।

पूर्व में भी भेजी थी राम शिला अयोध्या 
विश्व हिन्दू परिषद के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक सिंघल के कार्यकाल में चमोली में गठित विश्व हिन्दू परिषद ने पूर्व में भी यहां से राम शिला अयोध्या भेजी थी। चमोली से विहिप इस बार भी राम मंदिर निर्माण भूमि पूजन में देवभूमि उत्तराखंड से योगदान करेगा। विहिप के विभागाध्यक्ष देवी प्रसाद देवली ने बताया श्रद्धा आस्था से बदरीनाथ की पवित्र मिट्टी और पांचों प्रयागों से जल कलश में एकत्र पर अयोध्या ले जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *