उत्तराखंड में हुए करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले में ईडी ने दर्ज किया मुकदमा

उत्तराखंड

करोड़ों के छात्रवृत्ति घोटाले के आरोपियों पर पुलिस के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी शिकंजा कस दिया है। घोटाले को लेकर प्रवर्तन निदेशालय की दून शाखा ने प्रवर्तन केस सूचना रिपोर्ट (ईसीआईआर) दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जांच में पुलिस की ओर से इस मामले में दर्ज एफआईआर को शामिल किया जा रहा है।

छात्रवृत्ति घोटाले में अब तक सिर्फ हरिद्वार और देहरादून में ही 133 कॉलेजों के खिलाफ 83 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं और 53 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। मामले में उत्तराखंड के अलावा उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और हिमाचल के कई कॉलेज शामिल हैं।

नोटिस भेजकर पूछताछ शुरू
ईडी के सूत्रों ने ईसीआईआर दर्ज होने की पुष्टि की है। ईडी की जांच टीम पुलिस की ओर से दर्ज हो रहे मुकदमे की कॉपियां लेकर उनमें आरोपी बनाए गए लोगों को नोटिस जारी कर उनसे पूछताछ कर रही है।

समाज कल्याण विभाग अफसर और कॉलेज आरोपी
वर्ष 2017 से छात्रवृत्ति घोटाले की जांच चल रही है। इसमें समाज कल्याण विभाग अफसरों के साथ ही बड़ी संख्या में कॉलेज संचालक और दलाल और नेताओं के करीबी आरोपी हैं।

चम्पावत में दो गिरफ्तार
टनकपुर-बनबसा पुलिस ने छात्रवृत्ति घोटाले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। टनकपुर के कोतवाल धीरेंद्र कुमार ने बताया कि दिसम्बर 2019 में करीब 40 लाख की छात्रवृत्ति घोटाले में मुकदमा दर्ज किया गया था। मामले में सोमवार को पुलिस ने मुकेश कुमार और प्रदीप कुमार निवासी ग्राम दिया, बिरिया-मझोला खटीमा को गिरफ्तार किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *