प्रदेशभर में सड़कों की मरम्मत अटकी मुश्किल होगा सफर,बरसाती मौसम में कई सड़कें बंद

उत्तराखंड व्यापार

कोरोना की वजह से राज्य में सड़कों की मरम्मत और नवीनीकरण के काम को खासा झटका लगा है। इसके चलते पहाड़ी क्षेत्रों और बरसात के मौसम में लोगों को सफर में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। 

दरअसल, राज्य में सड़कों पर पेंटिंग, डामरीकरण आदि का काम मुख्य रूप से मार्च से लेकर मई तक होता है। इस वर्ष इस दौरान लॉकडाउन की वजह से यह काम शुरू ही नहीं हो पाया।

लॉकडाउन खत्म हुआ तब तक राज्य में मानसून आ गया। मानसून खत्म होने के बाद विभाग की मुख्य प्राथमिकता आपदा से क्षतिग्रस्त हुई सड़कों को ठीक करने की होती है। ऐसे में अब इस साल सड़कों की मरम्मत व डामरीकरण आदि के काम आगे भी प्रभावित होना तय है।

लोक निर्माण विभाग ने राज्य में इस साल 1000 किलोमीटर सड़कों के नवीनीकरण का लक्ष्य रखा था पर इसमें से सिर्फ 250 किलोमीटर सड़कों पर ही काम हो पाया है।

इसी तरह राज्य में सड़कों के सुधार के लिए 5400 किलोमीटर सड़कों पर पेचवर्क होना था। यह काम भी प्रभावित हुआ है। विभाग के अफसरों का कहना है कि डामरीकरण आदि का प्रमुख काम सितंबर के बाद शुरू किया जाएगा।

कुंभ में भी कम काम होंगे 
कोरोना का असर हरिद्वार महाकुंभ की तैयारियों पर भी पड़ा है। यदि कुंभ पहले की तरह भव्य स्वरूप में होता तो विभाग को कई सौ करोड़ रुपये का काम मिलता। चूंकि कोरोना के चलते इस बार कुंभ भी बहुत बड़ा नहीं होने वाला है इसलिए लोनिवि को बड़े काम नहीं मिले हैं। 

कोरोना की वजह से लोक निर्माण विभाग की योजनाओं में कुछ देरी होगी। हालांकि विभाग के बजट में बहुत कटौती नहीं हुई है, खासकर राज्य सेक्टर से बजट के अनुकूल पैसा मिल रहा है पर लॉकडाउन की वजह से परियोजनाओं की अवधि पर प्रभाव पड़ना तय है।
आरके सुधांशु, सचिव, लोनिवि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *